Sona Pahari Mandir: सोना पहरी मंदिर बगोदर, खुलने और बंद होने का समय, टिकट

Sona Pahari Mandir: सोना पहरी मंदिर झारखंड के गिरीडीह के बगोदर मे इसथित है इस मंदिर का रहस्य और इस मंदिर की मानयता जान के हैरान हो जाएंगे आप,

आज मैं आपको इस मंदिर की पूरी जानकारी दूंगा की कहाँ स्थित है और कब और किस समय मंदिर जाना चाहिए।

Sona Pahari Mandir: इस मंदिर का रहस्य

ये मंदिर सदियों पुराना है और ये मंदिर एक छोटे से पहाड़ के ऊपर स्थित है, उस गाँव के पूर्वज इस मंदिर को पूजा किया करते थे, मंदिर आज से 100 साल पुराना है, पहले ये मंदिर एक मंडई हुआ करता था मंडई उसे कहते है जो एक गाँव या समुदाय के लोग मिलकर पूजा करते है, कुछ गाँव के लोग मिल कर एक छोटा सा मंदिर का निर्माण करते है और वो लोग अपने गाँव के देवता को पूजा करते है, उसी को मंडई कहते है,

पहले इस मंदिर मे सिर्फ उस गाँव के लोग ही पूजा किया करते थे, गाँव के लोग चन्दा इकठा कर के इस मदिर पर पूजा किया करते थे, लैकिन धीरे धीरे इस मंदिर की मान्यता बांधने लगी, उस मंदिर पर पूजा करते थे उनका कहना था की इस मंदिर पर आ कर कोई कुछ मिन्नत मांगते है तो वो पूरा हो जाता है,

पहले लोग उस गाँव के आस पास के लोग ये जान के उस मंदिर मे पूजा के लिए जाने लागे और धीरे धीरे कुछ सालों मे ये मंदिर की बिशेषताए या मानयता इतनी बढ़ गई है की पूरे झारखंड मे ये मंदिर अब प्रसिद्ध हो गया है सिर्फ झारखंड ही नहीं झारखंड से बाहर के लोग भी अब इस मंदिर मे पूजा करने के लिए आते है ।

Sona Pahari Mandir: मंदिर खुलने और बंद होने का समय

सोना पहरी मंदिर का दरवाजा सुबह 5 बजे खुल जाता है और रात 7 बजे तक पूजा होता है और इस मंदिर मे सातों दिन पूजा होता है, सुबह सबसे पहले मंदिर का दरवाजा खुलने के बाद सबसे पहले वहाँ के पंडित पूजा करते है उसके बाद बाकी के लोगों को पूजा करने के लिए मिलता है, इस मंदिर मे पूजा करने के लिए नंबर लगाना पड़ता है और कभी कभी ऐसा भी होता है की इतनी भीड़ होती है की लोग सुबह के गए शाम मे नंबर आता है।

Sona Pahari Mandir: इस मंदिर की खासियत

इस मंदिर की खासियत ये है की इस मंदिर मे आ के जो कोई भी कुछ माँगता है और उसकी मनोकामना पूरा हो जाता है उसके बाद लोग उस मंदिर मे आ के नारियल, प्रसाद चढ़ाते है, और ज्यादातर लोग अगर उनकी मनोकामना पूरी होने पर बकरे का चढ़ावा करते है, और बकरे की लाइन इतनी लंबी होती है की आप सोच भी नहीं सकते और ये सिर्फ एक दिन नहीं साल के 365 दिन इस मंदिर मे इतनी भीड़ रहती है ।

Sona Pahari Mandir: इस मंदिर की इस प्रथा को भूल के भी ना तोड़े

Sona Pahari Mandir
Sona Pahari Mandir

इस मंदिर की एक प्रथा है जिसे आप भूल के भी ना तोड़े अगर कोई इस प्रथा को तोड़ता है तो उसके किसी परिवार मे कोई घटना हो जाता है और ये सिर्फ एक अफवाह नहीं है ये बहुत बाद सिद्ध भी हो चुका है, इस मंदिर की प्रथा ये है अगर आप इस मंदिर जो लोग पूजा करने जाते है और अगर वो प्रसाद या बकरे का चढ़ावा करते है वो आप उस प्रसाद को अपने घर ले के नहीं जा सकते है आपको सारा कुछ उस जगह पर खाना पड़ेगा अगर आप कोई भी चीज अपने घर ले के जाते है तो आपको कुछ घटना हो सकता है तो ये भूलकर आप ये गलती ना करे।

अगर आप बकरे का चढ़ावा करते है उस मंदिर के पास मे आपको बहुत सारे घर या रूम्स आपको किराये मे मिल जाता है जहाँ पर आप अपने पूरे परिवार के साथ उस घर पर खाना बना के खा पी सकते है अगर पास मे ही बहुत बड़ा ग्राउन्ड भी है जहँ पर आप जा के अपनी पार्टी कर सकते है, मंदिर के आस पास लगभग अभी सभी सुविधाये मिल जाएगी जैसे होटल, राशन का समान, मेडिकल दुकान, मोटर साइकिल सर्विस सेंटर लगभग आपकी जरूरत की सभी सुविधाये आपको मंदिर के आस पास मिल जाएगी ।

Sona Pahari Mandir: केसे जाए और कब जाए

इस मंदिर तक पहुचने के बहुत से तरीके है इस मंदिर मे आप बस, मोटर साइकिल और ट्रेन के जरिए आप आसानी से जा सकते है, ये मंदिर जी. टी. रोड के रास्ते मे पड़ता है और जी. टी. रोड से महज 2 किलोमिटर के दूरी पर है ।

  • बस- अगर आप झारखंड के रहने वाले हो तो आप तो आप बस से आसानी से जा सकते है, सोना पहरी जाने के लिए आपको बस हजारीबाग, रांची, धनबाद और गिरीडीह से आपको हर 20 मिनट मे आपको बस मिल जाएगी ।
  • ट्रेन- अगर आप ट्रेन के माध्यम से जाना चाहते है तो आप पारसनाथ रेल्वे स्टेशन, धनबाद रेल्वे स्टेशन ,गोमिया रेल्वे स्टेशन और रांची रेल्वे स्टेशन आपको सबसे पास पड़ेगा, सबसे कम दूरी पर आपको पारसनाथ रेल्वे स्टेशन पड़ेगा यहाँ से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर है ।
  • हवाई जहाज- अगर आप हवाई जहाज से इस मंदिर मे जाना चाहते है तो आपके पास दो बिकल्प है बिरसा मुंडा एयरपोर्ट और धनबाद एयरपोर्ट, उसके बाद आप बस या कार के दुवरा आप आसानी से सोना पहरी मंदिर जा सकते है।

अगर आप पर्सनल कार या मोटरसाइकिल से जाते है तो आपको वहाँ पर पार्किंग के सुविधा भी आपको मिल जाएगी जिसके लिए आपको कोई भी चार्ज नहीं देना पड़ेगा फ्री पार्किंग की सुविधा मोजूद है।

Rumi Darwaza Lucknow: इस दरवाजा के रहस्य जान के हेरान हो जाएंगे

Sona Pahari Mandir: इन बातों का ध्यान जरूर रखे

  • 1 कोई भी समान जैसे नारियल प्रसाद कुछ भी उस स्थान से लेकर वहाँ से घर पर भूल के भी ना लाए ।
  • और अगर आपका कुछ भी समान बच जाता है तो कोशिश करे की वहाँ किसी जरुरतमन्द को दे दे ।
  • नहीं तो उस बचे समान को नदी मे बिसर्जित कर दे ।

Sona Pahari Mandir

इस मंदिर की बिशेषताए अब आपको पता चल ही गया होगा, इस मंदिर की खूबिया और रहस्य अब शयद ये जान के आपको एक बार जरूर जाने का मन कर रहा होगा तो जरूर प्लान करे अपने पूरे परिवार के साथ, इस मंदिर मैं अभी काम चल रहा इस मंदिर को और भी खूबसूरत बनाया जा रहा है ताकि लोग आए तो कुछ अलग नजरिए को देख के जाए ,अगर आपको इस मंदिर के बारे मे और कुछ जानकारी चाहिए तो आप हमे कॉमेंट या फिर कान्टैक्ट कर सकते हो।

नामसोना पहरी मंदिर
स्थानबेको बगोदर
समयसुबह 5 बजे से शाम 8 बजे तक
राज्यझारखंड इंडिया
पिन कोड825322
पार्किंगफ्री पार्किंग मोजूद
टिकट15 रु
रेल्वे स्टेशन
पारसनाथ रेल्वे स्टेशन, रांची रेल्वे स्टेशन
Sona Pahari Mandir

निष्कर्ष

Sona Pahari Mandir: इस मंदिर की बिशेषताए अब सिर्फ मंदिर के आस पास के लोग ही नहीं पूरे झारखंड के लोग मानने लगे है, इस मंदिर के प्रति लोगों का बिश्वाश अब इतना ज्यादा हो गया है की कोई भी संकट आने पर लोग सोना पहरी बाबा के मंदिर के दुवार पर चले जाते है, अगर आप उसके आस पास कहीं जाते है तो एक बार इस मंदिर पर दर्शन के लिए जरूर जाए, वहाँ जाने के बाद यकीन मानो बहुत ही शांति महसूस होगा, मानो ऐसा लगेगा जैसे बहुत ही पवित्रा जगह पर आए है ।

हजारीबाग झारखंड वाइरल विडिओ: विडिओ की सच्चाई जान के आप हेरान हो जाएंगे